Threesome with Raani and Anita

It was 12.30 and my parents were expected around 5.00 pm, and I was very excited about deflowering a virgin, but she wanted it be a private affair, I was in a dilemma, had to figure out a way to play both courts equally. So I devised a plan, my parents have to attend a wedding in Lucknow the day after next, and they will be away for 2 days, and they are leaving tomorrow and I will have the house for myself. I remember the last time I was alone with Raani for two days, I shivered with excitement, I was about to fulfill all my fantasies with a virgin, thinking about all this I had lost erection, when

Raani” ” क्या हुआ, क्या सोच रहा है? वो भी चूसे जा रही है, पागल जब देख रही है की तनाव नहीं है तो क्यों करे जा रही है?

Me” सुन रानी कल मम्मी पापा, बाहर जाने वाले है, दो दिन बाद लौटेंगे. तू एक काम कर अगर माँ तुझे बोलती है, तो एक दम से हाँ मत करियो, और अनीता के लिए तो मना ही कर दियो, कहीं शक न हो जाये, मैं भी बोलूंगा की मैं अपने किसी दोस्त को बुलालूँगा. फिर देखते है.

Raani” हाँ वैसे भी मैं रात तो नहीं रुकूंगी, घर पे सब है, दिन में आ सकती हूँ, और इसको भी साथ ले आउंगी. और कितने बजे निकलेंगे.

Anita” मुझे भी कोई बताएगा की क्या बात हो रही है?”

We were not even listening to her, so it was decided, for the next day, I had to prepare for the next day, I started wearing my clothes.

Anita” क्या हुआ कहीं जा रहे हो?

Me ”नहीं चल तू भी कपडे पहन और अब घर जा कल आइओ. ”

Raani” चल अभी घर चल रस्ते में सब समझाती हु, ”

Anita” मेरा तो मन है अभी!’

Me” आज अपने मन को मार दे कल जितना मन करे उतना कर लियो. ”

Well they left and before leaving Raani said” तयारी पूरी रखियो!.

The next day I dropped my parents to the airport and when I returned from the gym it was already 9. 00am. I freshened up had my meal and crashed in front of the TV. I was waiting for both of them, after a while the bell rang, I opened and there they both were, I let them in making sure no one was paying attention.

Me” बड़ी देर लगा दी? क्या हुआ?

Raani” कुछ नहीं रस्ते में जान पहचान की मिल गई थी उसने दिमाग चाट लिया, तू बता दरवाज़ा क्यों ताक रहा था?

Me” दरवाज़ा नहीं ताक रहा, मुझे सामान लाने जाना था, तू आई लेट है, चलो तू दोनों रुको मैं अभी आता हु, ”

I went to the market to get condoms. when I came back both were sitting and talking.

Me” क्या बातें हो रही है बहेनो में? क्या सीखा रही है रानी?

Raani” कुछ नहीं ये पूछ रही थी, की ये सब हमारे बीच में कैसे शुरू हुआ. बता रही हु इसे. ”

Me” काम वाम करलो कुछ, सिर्फ बर्तन कर दो, और थोड़ी सफाई. पर कपडे उतार के!

Raani” हट ठरकी! कोई आ गया तो क्या करेंगे? “

Me” कोई न आ रहा. कोई आया तो मैं दरवाज़ा खोलूंगा. बस तुम दोनों जैसा कहता हु करते जाओ. ”

Raani” चल अनीता शुरू हो जा, कपडे उतार, ”

दोना कपडे उतारने लगी, अनीता जायदा शर्मा रही थी.

Me” बस कच्ची और ब्रा मत उतारना. ”

Anita” क्यों भइया जी इन्हे पेहेन के भी क्या फ़ायदा?

वो दोनो ब्रा पैंटी में आ गई रानी ने सफ़ेद ब्रा और काली पैंटी और अनीता ने सफ़ेद ब्रा और गुलाबी पैंटी पेहेन राखी थी. वो दोनों काम करने लगी मैंने रानी को रोक लिया.

Me” इसकी वीडियो बनाऊ?”

Raani” न रहने दे, अक्ल ठीखाने लगा दी है. अब कुछ नहीं करेगी. मैंने उसके मुम्मो को दबाते हुए” तो आजा फिर! बोली हट! पहले काम ख़तम कर लेती हु. मैंने उसे पकड़ लिया और उसके होठ चूमने लगा, वो बोली रुक जा दस मिनट, वो काम करने चली गई, मैं किचन में गया, अनीता बर्तन कर रही थी, मैंने पीछे से जाके उसे जकड लिया और उसे चूमने लगा, वो तुरंत गरम होने लगी, मैंने उसकी ब्रा खोल दी और उसके मुम्मो को सहलाने लगा, उसके हाथ से बर्तन छूटने लगे, उफ्फ्फ वो धीरे से बोली क्या करते हो, कर लेने दो.

Me” मैं कहाँ मना कर रहा हु, हम्म बड़ी अछि खुशबू आ रही है तेरे में से, मैंने अपना लण्ड उसके चूतड़ों के बीच में दबाया. ”

Anita “आप का तो तन गया है. उसने हाथ घुमा के लण्ड को छू के देखा, हए यह तो पूरा तना हुआ है. ” मैंने उसके कच्छी में हाथ दाल दिया और उसकी दरार में ऊँगली फेरने लगा, उसका दाना रानी से बड़ा था और उसकी चूत के होंठ भी गुद गुदे थे, दो तीन बार जब ऊँगली उसके दाने पे लगी उसने पैर चौड़ा लिए. अब मैं उसके चूत के बाहरी हिस्से को सहला रहा था, और जैसे मैंने ऊँगली अंदर डालने की कोशिश की, वो चिला पड़ी अहह.

Me” क्या हुआ चिलाई क्यों?”

Anita” बहुत जोर से दर्द हुआ. ”

Raani” क्या हो गया? अरे थोड़ी देर रुक जाओ दोनों फिर कर लेना. रानी ने मेरे लण्ड को देखा, हए तूने तो पुर तयारी कर रखो है, यहीं करेगा क्या, राजा थोड़ी देर रुक जा फिर चढ़ जइयो घोड़ी. कौन रोक रहा है तुझे?

Anita” हाँ भइया जी थोड़ा और सब्र करलो. ”

Raani” तू क्या ये भइया भइया कर रही है? काम कर अपना और तू मेरे साथ आ. मैं उसके पीछे चल दिया. वो जाके सोफे पे बैठ गई और बोली, मेरे राजा ज़रा अपनी रानी का भी ख्याल कर ले”, मैं उसके पास गया और उसके पैरों के बीच बैठ गया और उसके मांसल जांघो पे हाथ फेरने लगा. और हलके हलके उसके जांघो पे चूमना और काटना शुरू किया, उसके हाथ मेरे कंधो पे चल रहे थे, मैंने कच्छी के ऊपर से ही उसके संवेदनशील अंग को चूमने लगा, वो पैर खोल के देने लगी और मेरे मुँह को अपने नीचे दबाने लगी, उसकी कच्छी में गीला दाग बनने लगा था, रानी ने अपना ब्रा उतार दिया, और अपने निप्पल चूसने लगी, मैंने उसके दुसरे निप्पल को अपनी जीब से छेड़ने लगा, वो बहुत उत्तेजित स्वर में बोली हम्म तू नीचे कर ना. मैं उसे चूमता हुआ नीचे गया, और उसकी पैंटी मुँह से पकड़के उतारने लगा, वो पैर खोले मेरे सामने बैठी थी, मैं उसके पैरों के बीच में गया और उसकी चूत फैला दी, और चाटने लगा, उसके गुलाबी चूत गीली हो चली थी, वो उह्ह अहह की आवाज़े कर रही थी. मैं उसे अच्छे से चाटने लगा और उसे ऊँगली से छोड़ने लगा, उसे यह बहुत अच्छा लगता है, रानी को चुदाई से जयादा खिलवाड़ अच्छा लगता है, लण्ड तो वो झड़ने से दो तीन मिनट पहले हे लेती है, मैं उसकी चूत में उँगलियाँ चला रहा था. वो अब टाँगे उठा के ऊँगली और अंदर ले रही थी, वो अब अपना आप खो रही थी, मैंने अपना लण्ड उसके द्वार पे लगा दिया, और उसके दाना जो फूल के खड़ा हो गया था, उसपे रगड़ने लगा, उसने हाथ बड़ा के सुपाडे को चूत के ले लिया, उसका पानी रिस रहा था और लण्ड फिसलता हुआ उसकी गरम चूत में समां गया, मैं उसे छोड़ने लगा उसने पैर मेरे कमर पे बांध लिए, बस दो मिनट में हे वो झड़ने लगी, मैंने उसके मुम्मे कसके दबा दिए, उसके मुँह से चीक निकल गई, अहह मार दिया जान लेगा क्या? आवाज़ सुन के अनीता कमरे में आ गई, पता नहीं क्या हुआ, की मैं भी झड़ने लगा और सारा माल उसकी चूत में ही बहा दिय.

Raani” अरे यह क्या हो गया? तू भी मेरे साथ ही हो गया?. It was a little embarrassing but none seemed to mind. as I pulled my cock out cum oozed along.

Anita” इतना सारा निकला है? जीजी कुछ होगा तो नहीं? कही ठहर जाए आपको!

Raani” चुप कर पता न हो तो बोला मत कर. ” हम दोनों साफ़ होके आये, तो अनीता कमरे में थी, वो हमे देख मुस्कुरा रही थी.

Raani” क्यों री, क्यों मुस्कुरा रही है?”

Anita” कुछ नहीं, बस यु ही, ” रानी उस के पास गई और उसे छेड़ने लगी, उसे बैड पे गिरा दिया और उसके ऊपर गिर गई, और उसके मुम्मो का छेड़ने लगी.

Anita” जीजी मत करो गुद गुदी हो रही है, चिल्ला दूंगी, ” रानी ने उसका मुँह बंद कर दिया, मैं गया और उन्हें रोक दिया.

Me” अरे छोड़ उसे चलो तुम दोनों एक फिल्म दिखाता हूँ. i hooked up my laptop to the TV and put on a porn film and we started watching, well Raani knew but it was Anita’s first time she was watching when a pornstar unveiled his huge cock Anita gasped, इतना बड़ा! Raani hushed her up”. As the movies progressed there was a lesbian scene between two huge breasted women, they were licking fingering doing all sorts of thing, when this idea struck me.

Me” तुम दोनों कर सकती हो यह सब?” दोनों की शक्ल ऐसी हो गई जैसे भूत देख लिया हो.

Raani” न रे बाबा, औरत के साथ? मैं तो नहीं कर सकती. ” अनीता चुप थी, मैंने उससे पुछा क्यों तू बता?

Anita” हाँ अगर ये साथ देंगी तो बिलकुल कर सकती हूँ. ”

Me” ये बात, देखा रानी ”. रानी की शक्ल देखने लायक थी, वो कभी अनीता को कभी मुझे देख रही थी.

Me” कल की लड़की त्यार है और तू अभी भी सोच विचार में है !”

Raani” सोच विचार क्या ? मैंने आज तक कभी नहीं किया, ऐसे. ”

Me” रानी हर चीज़ की कभी न कभी शुरआत होती है, क्यों न आज?” मैं उनके सामने खड़ा हो गया और अपनी शॉर्ट्स उतार दी, मेरा लण्ड उनके चेहरे के सामने था. अनीता ने झट पकड़ लिया और मुँह में ले लिया, रानी उसे देख रही थी, मैंने रानी को पास बुलाया, उसका हाथ अपने आप ही मेरे टट्टों पे चला गया और वो उन्हें उँगलियों में घूमाने लगी. मैंने आगे बड के अनीता का ब्रा खोल दिया, और उसका हाथ टट्टों से हटा कर अनीता के मुम्मे पे रख दिया, अनीता ने लण्ड को खड़ा कर दिया, फिर मैंने अनीता की पैंटी उतार दी, और उसके पैरों को फैला दिया, उसकी कुवारी चूत गीलेपन से चमक रही थी, मैंने हलके से उसपे जीब चलाई, वो अहह भरने लगी. हम्म्म आह, मैंने देखा की रानी उसके निप्पल पे जीब फेर रही थी, और अनीता के हाथ में रानी का मुम्मा था, अब वो दोनों एक दूसरे से मज़े ले रही थी और मैं बैठ के देख रहा था. अनीता रानी के ऊपर आ गई, और रानी के मुम्मो को चूसने लगी, और उसके शरीर पे हाथ फेरने लगी, अब रानी भी उसे सयोग दे रही थी, रानी ने उसका हाथ ले अपनी चूत पे ले गई, और अनीता तुरंत ही उसकी गहराई में ऊँगली चलाने लगी, मैंने चुपके से अपना कैमरा ऑन किया और उनकी वीडियो बनाने लगा, वो दोनों इतना डूब गई की उन्हें पता ही नहीं चल रहा था की मैं उनकी वीडियो बना रहा हूँ. इतने में रानी ने अनीता को पलट दिया और उसके ऊपर आ गई, और उसके होटों पे अपने होंठ रखा दिए, मेरा लण्ड तो इतना मस्त हो गया था ये सीन देख की मन कर रहा था बस जो छेद दिखे उसी में डाल दू. रानी उसपे भारी पड़ने लगी, वो बहुत उत्तेजित हो गई थी, और रानी जब उत्तेजित होती है तो काबू से बाहर हो जाती है, उसे संभालना भारी पड जाता है, और झड़ते ही वो उतनी ही सॉफ्ट हो जाती है, रानी ने अनीता को दबा लिया था, वो उग्र होक उसके मुम्मे चूस रही थी. और अनीता उसकी चूत रगड़ रही थी. मेरा लण्ड पूरी तरह से तन गया था, मैंने अनीता के पैर फैलाए और उसकी गीली चिकनी चूत में ऊँगली फेरी वो उछल पड़ी, मैंने तुर्रंत अपना मुँह उसकी चूत पे लगा दिया और चाटने लगा, रानी उसे छोड़ के उसके साथ लेट गई, और बोली बहुत देर हो गई अब इसे और मत तड़पा, आज इसको औरत बनादे ! मैंने फिरसे अनीता के चूत पे अपना मुँह लगा दिया और चाटने लगा, वो तड़प उठी, मैंने ऊँगली से धीरे धीरे उसके चूत को सहलाना शुरू किया, वो बहुत गरम हो रही थी, मैं उसके ऊपर लेट गया और उसके होटों पे अपने होंठ रख दिए, उसने मेरा निछले होंठ को पकड़ लिया और चूसने लगी, मैं भी उसका सयोंग कर रहा था, वो बुरी तरह से उत्तेजित थी, अब वो मुझे नहीं छोड़ रही थी, मैं लण्ड को उसके चूत तक पहुंचाने की कोशिश कर रहा था, पर वो बार बार फिसल रहा था, इतनेमें रानी ने मेरा लण्ड पकड़ लिया और बोली नहीं, पहले लगा ले! मैंने फटाफट पैकेट खोला और कंडोम चढ़ा लिया, मैं अनीता के ऊपर आया और उसके नरम होटों को चूमने लगा, वो भी त्यार थी, वो चूत को लण्ड से मिला रही थी, मैंने झटका मारा, लण्ड लग के फिसल गया, वो चीक पड़ी आ क्या करते हो?

Raani” क्या कर रहा है? मारेगा क्या? अभी नई है प्यार से डाल. ” मैंने फिर से कोशिश की इस बार रानी ने मेरा लण्ड पकड़ लिया और अनीता की चूत पे लगा दिया और बोली, अब ज़रा प्यार से दखेल. मैंने हल्का सा ज़ोर लगाया, नहीं जा रहा था, फिसलने लगा रानी पूरी हेल्प कर रही थी, तीसरी बारी में लण्ड हल्का सा चला गया, उसके हाथ जाम हो गए, बोली खिच रहा है रुक रुक क्र डालो, मैंने और थोड़ा ज़ोर लगाया, लण्ड का सुपाड़ा रास्ता बनाने लगा, वो आह भरने लगी, दर्द हो रहा है वही रुक जाओ, उसकी चूत बहुत टाइट थी, इस बार लण्ड सही जगह पे टिक गया था, और इस बार उसके मुँह से तेज़ चीख निकली आ मार दिया, उसके आसूं बहने लगे, वो रो रहे थी, मैंने और थोड़ा धकेला, वो ज़ोर से रोने लगी निकाल लो भईया जी बहुत दर्द हो रहा है, मैं वैसे ही रुका रहा लण्ड अभी आधे से जायदा बाहर था, मैंने और धकेला कुछ चटका ! और वो और ज़ोर से चिला पड़ी ाई, निकालो जल्दी, मैंने लण्ड खींच लिया, उसका खून बह रहा था, वो दर्द से चटपटा रही थी, रानी बोली जा जल्दी धो के आ, वो लड़खड़ाते हुए वाशरूम में गई और उसने उलटी कर दी.

Raani” ये तो आज कल की लड़कियों का हाल है, ”मेरी पहले बारी में रमेश थक गया था, पर मैं नहीं थकी थी, तीन बारी किया था, वो बात अलग है ही दुसरे दिन सूजन आ गई थी.

मेरा लण्ड अभी भी पूरा तना हुआ था, मैंने कंडोम उतारा और धोने की लिया वाशरूम गया, अनीता अपने आप को साफ़ कर रही थी, मैं साफ़ करके आया और आते ही रानी की ऊपर लेट गया, और उसके मुम्मे चूसने लगा,

Raani” क्यों नए माल से मज़ा नहीं आया?

Me” रानी तुम तेरी कुछ अलग बात है. और वैसे भी वो नहीं करेगी आज. ”

और उसने तुरंत ही लण्ड को चूत में ले लिया, और बोली अब रुकियो मत मैंने भी उसे छोड़ना शुरू कर दिया पट पट की आवाज़ गूंजने लगी, लण्ड पूरा अंदर तक लग रहा था इतने में अनीता आ की बैठ गई पर हम लगे रहे, कुछ ही मिंनटो में वो झड़ने लगी वो बहुत उत्तेजित ही गई थी, और पहली बार रानी की मुँह से निकल गया साहिल मैं तेरी हूँ, मुझे अपना बना की रख जैसे मन करे वैसे कर. अनीता बीच में बोल पड़ी, जीजी मेरी लिए भी कुछ छोड़ दो, लण्ड अभी अंदर ही था और पता नहीं क्या हुआ रानी फिर से झड़ने लगी, और लण्ड को चूत से कसने लगी, उसको झाड़ता देख मैं भी झड़ने लगा और चूत में ही छोड़ दिया, हम थोड़ी देर वैसे हे पड़े रहे, रानी गहरी साँसे भर रही थी, तू तो मेरी जान लेके ही मानेगा!

Anita” अरे मुझे भी कुछ मिलेगा या नहीं?

Raani” तू देख ले कर सकती है? ये पीछे नहीं हटेगा. बस थोड़ा आराम दे इसे, फिर देख. ”

हम तीनो वही लेटे रहे. कुछ देर बाद रानी उठी और कमीज पहनने लगी, बोली चाय बनती हूँ, वो किचन मेंचली गई.

Me” क्यों ज़यादा दर्द हुआ क्या?

Anita”|ज़यादा? बस मेरी जान ही नहीं निकली!”

Me” इतना तो सहना पड़ेगा. ” She was getting aroused, she was moving her fingers around my nipples, tickling with her finger nails, and without warning she was circling it with her tongue, her warm big boobs pressing against me. It was really exciting, her hands were groping my cock trying to harden it.

Me” क्या कर रही अनीता ऐसे न होगा कुछ अलग कर, ” she started kissing my stomach going down, and finally my limp cock was in her mouth like a lollipop, she was circling her tongue around my mushroom putting everything she had earlier seen in the porn movie, I was getting aroused and my cock started to harden, in fact she was more aroused than me she was groping my balls, rubbing her boobs on my body.

Me” अनीता इधर आ, मैंने उसे ऊपर लेटा लिया और उसे चूमने लगा, वो भी पूरा सयोग दे रही थी, उसने अपना मुम्मा मेरी तरफ किया, और मैं उसके निपल चूसने लगा, उसकी कपकपी छूट गई, को कांप रही थी, वो मेरे ऊपर बैठ गई और अपने मुम्मो को चुसवाने लगी, वो गरम हो गई थी, वो अपनी चूत को हलके हलके मेरे लण्ड से रगड़ रही थी. अनीता बहुत सुन्दर लग रही थी, उसके माथे पे हल्का हल्का पसीना, उसके गाल लाल हो गए थे, उसके निप्पल पुरे तन गए थे, मैंने उसको अपनी तरफ खींचा और उसके नरम होटों को चूसने लगा, इतने में रानी आके बैड पे बैठ गई. अनीता रुक गई और अपना चेहरा छुपा लिया.

Raani” तुझे बड़ी शर्म आ रही है? कुछ देर पहले तो तेरा कुछ और ही रूप था!”

अनीता कुछ नहीं बोली, मैंने फिरसे उसे चूमना शुरू किया, और उसके मोटे मुम्मो को सहलाने लगा, उसकी गरम साँसे मेरे सीने पे पद रही थी, वो मेरे कान में फुसफुसाई मैं त्यार हु ! सुनते ही मैं उसे पलट ऊपर आ गया और उसके होटों पे अपने होंठ रख दिए और उसे चूमने लगा, वो मुझसे लिपट गई, उसके मोटे मुम्मे मेरे सीने से सटे हुए कुछ अलग हे मज़ा दे रहे थे, रानी ने भी अपने कपडे उतार दिए और पास आके लेट गई, अनीता अब बस आँखे बंद करे मज़े ले रही थी, वो नीचे हाथ करके मेरे लण्ड को कस के पकडे हुई थी, अब हमारी उत्तेजना चरम पे थी, अनीता ने लण्ड को अपनी चूत में लगा दिया, और मैंने धकेला, उसने भी फिसलने नहीं दिया, और लण्ड थोड़ा सा अंदर गया, उसे दर्द हो रहा था, बोली धीरे धीरे डालना, मैं धीरे धीरे आगे पीछे करने लगा, चूत बहुत टाइट थी, या कहो की रानी की आदत पद गई थी, धीरे धीरे उसे भी अच्छा लगने लगा, वो भी अब साथ दे रही थी, मुझे याद आया की मैंने कंडोम नहीं लगाया, मैं रुक गया,

Anita” क्या हुआ रुक क्यों गए ? अब तो अच्छा लग रहा था. ”

Me” अरे देख मैंने कुछ लगाया नहीं है, ऐसे ही चलने दू क्या?

Raani” लगा ले कहीं ठहर वेहर गया तो मुश्किल हो जाएगी. ” मैंने कंडोम लगाया और वापिस काम पे लग गया, जैसे ही अंदर गया अनीता चीला पड़ी,

आह्ह ै यह चुब रहा है, मैंने उसकी सुनी नहीं और अंदर डाला वो सह नहीं पा रही थी, उसे डॉटेड चुब रहा था,

मैंने लण्ड निकला और फिर डालने की कोशिश की, वो फिर चीला पड़ी.

Anita” अहह नहीं हो रहा निकालो, नहीं होगा मुझसे. ”

Raani” क्या रोना कर रही है, बिना उसके तो तुझे मज़ा आ रहा था, अब दर्द हो रहा है!?”

Anita” नहीं जीजी सही में बहुत चुब रहा है. नहीं विश्वास तो आप करके देख लो, मैं झूट थोड़ी न बोल रही हूँ! मेरी हंसी छूट गई.

Me” आजा रानी टी करके देख ले दर्द होता है या नहीं. ” रानी लेट गई “

Raani” हाँ मैं भी देखू की इसे इतना क्या दर्द हो रह है इसे, मैं रानी के ऊपर आया और रानी ने लण्ड अपनी चूत में लगाया और मैंने घप से अंदर डाल दिया, और चोदना शुरू किया,. ” रानी आह आह करने लगी.

Anita” क्यों जीजी हो रहा है न दर्द? रानी बस मज़े ले रही थी, थोड़ी देर छोड़ने के बाद मैं थोड़ा रुक गया.

Raani” हाँ क्या कह रही थी? “

Anita” मैं कह रही थी हुआ न दर्द? तब तो तुम सुन ही नहीं रही थी. ”-

Raani” ऐसे में कौन सुनता है, पागल? और मुझे तो कोई दर्द नहीं हुआ पर मज़ा बहुत आ रहा है. ” मैं रानी पे से हट गया, और साइड में लेट गया, मैंने अनीता को इशारे से बुलाया, वो आई और कहने लगी नहीं इसे उतार लो मुझसे नहीं होगा.

Raani” पागल हो गई है? ठहर गया तो क्या करेगी?”

Anita” आप भी तो बीने उसके कर लेती हो! ”

Raani” तू मेरी छोड़, तेरे और मेरे उम्र में बहुत फर्क है. समझा कर. कल को कुछ हो गया तो को जवाब नहीं होगा देने को.

Me” हाँ रानी सही कह रही है, बिना कंडोम के मैं भी रिस्क नहीं लूँगा. “

Anita” अरे मैं वो नहीं रही, चलो बस जब रुकने को बोलू तो रुक जाना, ”

Raani” तू ऊपर बैठ जा न जैसा तेरे को अच्छा लगे वैसे कर ले!” अनीता मेरे ऊपर आ गई, और मेरे लण्ड को अपने चूत पे रख दिया और बैठने लगी, वो ठीक से नहीं कर पा रही थी, लण्ड फिसल रहा था.

Me” रानी ज़रा पकड़ना इससे नहीं हो रहा, ”

Raani” हाँ अब ये सब भी मुझे करना पड़ेगा? ये महारानी सिर्फ मज़े लेगी!”

रानी ने मेरा लण्ड पकड़ के उसकी चूत में लगाया और लण्ड अंदर जाने लगा, अनीता धीरे धीरे करने लगी, करते करते उसने पूरा लण्ड अंदर ले लिया, उसे अब लण्ड का एहसास अच्छा लगा रहा था, वो आगे पीछे होने लगी, धीरे धीरे उसकी स्पीड बढ़ने लगी उसने मेरे दोनों हाथ अपने मुम्मो पे रख बोली दबाओ इन्हे, मैं दबाने लगा वो अब सब कुछ भूल के लण्ड पे उछल रही थी, उसका बदन पसीने से चमक उठा था, अब उसे मज़ा आने लगा था, वो थक के रुक गई और मेरे ऊपर हे लेट गई. मैंने उसे पलट दिया और उसके ऊपर आ गया, उसने लण्ड को अपने द्वार पे लगाया, और मैंने एक झटके में लण्ड आधा अंदर डाल दिया.

Anita” आह धीरे धीरे करो, मुझे जल्दी नहीं है, मैं उसे चोदने लगा, प्यार से उसे बहुत अच्छा लग रहा था, वो ठंडी आहे भर रही थी, वो मुझे बुरी तरह से चूमने लगी, मैं भी उसे अब उसे ज़ोर से झटके मार रहा था, वो झड़ने के करीब थी, उसके पेअर हवा में थे और लण्ड अंदर तक लग रहा था, उसे दर्द भी हो रहा था और मज़ा भी आ रहा था, वो बोली, अहह आप रुकना मत अब मुझे बहुत अजीब सा लग रहा है!!!! और वो झड़ने लगी, वो कांपने लगी, उसका बदन अकड़ गया, गालों पे लाली छा गई, उसकी निप्पल तन गए, और वो बैड पे हाथ पैर मारने लगी, मेरे झटके अपने आप ही तेज़ हो गए, और मैं लण्ड को पूरा उसकी चूत में चला रहा था, वो झड़े जा रही थी, उसका ये हाल देख मैं भी झड़ने लगा, मैंने ज़ोर से झटके मारते हुए अपना माल उसमे छोड़ दिया वो ज़ोर से आहे भरते हुए लिपट गयी, और इतना अच्छा मुझे कभी नहीं लगा था, हम वैसे ही लेटे रहे, वो मेरे कान में फुसफुसाई शायद आपके अंदर ही निकल गया है, गरम गरम लग रहा है, मैंने फटाफट लण्ड बाहर निकाला तो देखा की कंडोम फट गया था, मेरी फट ली.

Raani” जल्दी उठ की बैठ जा लेट मत! क्या कर दिया ये?

Me” मैंने जान बूज के तो नहीं किया न?”

Anita” चल कोई नी, चिंता न करो कुछ नहीं होगा. ”

After that we cleaned up, and we had a bath together, where I did Raani again, Anita was a little sore in her cunt. So she opted out, after that day every day has been good. will be posting another story soon. The Diwali Gift where I ordered a penis extender and a vibrator online, and how Raani couldn’t control her orgasms and pissed.

See you soon.

Comments